Ola Electric ने किया ‘यह’ कांड? ग्राहकों को लौटाने पड़े 130 करोड़ रुपए!

यह कहना बिलकुल भी गलत नहीं होगा की, भारतीय इलेक्ट्रिक स्कूटर्स बाजार में सबसे बड़ा नाम Ola Electric है। अपने Ola S1 और Ola S1 Pro इन दोनों स्कूटरों की रिकॉर्ड बिक्री से इलेक्ट्रिक सेगमेंट में अपना दबदबा बनाए रखा है। हालाँकि, Ola Electric को तगड़ा झटका लगा है, उन्हें 130 करोड़ रूपए अपने ग्राहकों को लौटाने पड़े। आइए जानते क्या है पूरा मामला!

भारी-उद्योग मंत्रालय (Ministry of Heavy Industries) ने सख्त रूख अपनाते हुए  इलेक्ट्रिक कंपनियों की जाँच शुरू की है। कंपनियों द्वारा बेचे जा रहे ऑफ बोर्ड चार्जर की कीमत की वजह से ग्राहकों हो रहे नुकसान को देखते हुए जाँच चल रही है।

हालाँकि, यह चार्जर गाड़ी के साथ फ्री होने चाहिए। CNBC-TV18 की एक रिपोर्ट के अनुसार, इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर कंपनी ने सरकार को सूचित किया है कि वे अति-उद्योग मंत्रालय द्वारा शुरू की गई जांच के जवाब में ऑफ-बोर्ड चार्जर की कीमत रिफंड करेंगे।

ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया ( ARAI ) Ola Electric के खिलाफ कोई और कार्रवाई नहीं करेगा, क्योंकि कंपनी ने ऑफ बोर्ड चार्जर कीमत रिफंड कर दी है। कंपनी ने बताया है की, यह 130 करोड़ रुपए है। यह रिफंड उन खरीदारों को दिया जाएगा जिन्होंने वित्त वर्ष 2019-20 से 30 मार्च, 2023 तक Ola S1 Pro मॉडल स्कूटर खरीदते समय एक सहायक के रूप में ऑफ-बोर्ड चार्जर खरीदा है।

सरकार की जांच और सब्सिडी के निलंबन के बारे में प्रश्नों का उत्तर देते हुए, ओला इलेक्ट्रिक के संस्थापक और सीईओ भविश अग्रवाल ने कहा कि कंपनी सरकार के आदेशों का पालन करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि वे सभी मुद्दों को हल करने के लिए सरकार के संपर्क में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *