मारुती की ‘इन’ दो गाड़ियों से सफर करना मतलब जान जोखिम में डालना, Global NCAP Ratings में बुरी तरह फेल

यह कहना गलत नहीं होगा की, भारत में अगर कोई मध्यम वर्ग का परिवार कार खरीदने की सोचता भी है तो पहले उनके दिमाग में मारुती सुजुकी का ही ख्याल आता है। क्योंकि, मारुती कम कीमत में बढ़िया माइलेज और अच्छी सिटिंग कैपेसिटी वाली गाड़िया देती है। अगर आप बस कम कीमत को देख इन गाड़ियों को खरीदने की सोच रहे हो तो सावधान हो जाइए। क्योंकि, ऐसा करना आपके परिवार की जान जोखिम में दाल सकता है।

हालाँकि, भारतीय ऑटोमोबाइल दिग्गज मारुति सुजुकी की लोकप्रिय हैचबैक Wagon R और Alto K10 Global NCAP Ratings द्वारा किए गए क्रैश टेस्ट्स में बुरी तरह विफल रह चुकी है।

Maruti Suzuki Wagon R ने वयस्क संरक्षण के लिए शून्य-स्टार रेटिंग हासिल की है। वही बच्चों की सुरक्षा के मामले में केवल दो-स्टार रेटिंग पा सकीय। हालाँकि यह स्पष्ट करते है की इन गाड़ियों एयरबैग नहीं था. रिपोर्ट में कहा गया टेस्ट के दौरान चालक के सिर ने स्टीयरिंग व्हील के साथ संपर्क दिखाया, जबकि चालक की छाती सुरक्षित थी.

इस बीच, मारुति सुजुकी की एक और मशहूर कार Alto K10 ने Wagon R से अच्छे अंक प्राप्त किए है। वयस्कों की सुरक्षा के मामले में एक स्टार और बच्चे की सुरक्षा के लिए दो स्टार दर्ज किए है। परीक्षण किए गए ऑल्टो K10 मॉडल में भी कोई एयरबैग नहीं था.

Wagon R और Alto K10 के लिए क्रमशः 64 किमी प्रति घंटे और 56 किमी प्रति घंटे की गति से क्रैश टेस्ट किए गए थे. दोनों वाहनों को Global NCAP के स्टैण्डर्ड क्रैश टेस्ट प्रोटोकॉल के माध्यम टेस्ट किया गया था।

Global NCAP के महासचिव अलेजांद्रो फुरस ने कहा, “ यह बहुत निराशाजनक है कि मारुति सुजुकी, जो भारत में सबसे तेजी से बढ़ते कार ब्रांडों में से एक रही है, उसने भारतीय उपभोक्ताओं की सुरक्षा का ख्याल नहीं रखा है। वही दूसरी और इसी देश की महिंद्रा और टाटा अपने ग्राहकों के लिए उच्च स्तर की सुरक्षा का इंतजाम करते है। दोनों ने 5 स्टार रेटिंग प्राप्त की है। “

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *