अब Traffic Police भी करेगी AI का इस्तेमाल, सड़क दुर्घटनाओं में होगी कमी!

AI Cameras for Traffic Control: केरल राज्य जो अपने भौगालिक सुंदरता और हमेशा हलचल वाली सड़कों के लिए जाना जाता है, फ़िलहाल ट्रैफिक की समस्यायों से झुज रहा है। हालाँकि, इससे होने वाले एक्सीडेंट्स को रोकने के लिए और लोगों में ट्रैफिक नियमों को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए केरला ने अब अडवांस्ड तकनीक का सहारा लिया है। उनका मानना है की, अब इस से एक्सीडेंट्स की संख्या में काफी बड़ी कटौती होही।

केरला यातायात विभाग 726 अत्याधुनिक कृत्रिम बुद्धिमत्ता ( state-of-the-art artificial intelligence (AI) cameras) कैमरों के मदद से सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने की दिशा में एक साहसिक कदम उठा रहा है। राज्य भर में अहम् स्थानों पर स्थापित ये कैमरे सड़क सुरक्षा में क्रांति लाने और संभावित रूप से दुर्घटनाओं को 20% तक कम करने के लिए तैयार हैं।

यह कदम सड़क सुरक्षा उपायों को बढ़ाने के लिए टेक्नोलॉजी का लाभ उठाने के लिए राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के हिस्से के रूप में लिया गया है। ये AI कैमरे अडवांस्ड सुविधाओं जैसे कि रीयल-टाइम वीडियो एनालिटिक्स, ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन ( ANPR ) और फेशियल रिकग्निशन क्षमताओं से लैस हैं। यह उन्हें ट्रैफ़िक पैटर्न की निगरानी करने, उल्लंघनों का पता लगाने और रियाल टाइम नियम तोड़ रहे ड्राइवरों की पहचान करने की अनुमति देता है।

ऐसे काम करते है AI कैमरा:

इन AI कैमरों की प्रमुख विशेषताओं में से एक है ओवरस्पीडिंग, रेड लाइट जंपिंग और लेन क्रासिंग जैसे ट्रैफिक नियमों के उल्लंघनों को पकड़ने और उनका विश्लेषण करने की उनकी क्षमता रखना है। जब भी किसी नियम के उल्लंघन का पता चलता है, तो इनकी सिस्टम आटोमेटिक रूप से एक अलर्ट भेजती है।

इसमें नियम तोड़ने वाले की डिटेल्स आगे की कार्रवाई के लिए ट्रैफिक पुलिस को भेजी जाती है। इस स्वचालित प्रवर्तन प्रणाली (automated enforcement system) का उद्देश्य लापरवाह ड्राइविंग के खिलाफ एक मजबूत निवारक बनाना और जिम्मेदार सड़क व्यवहार को बढ़ावा देना है.

इन AI कैमरों के इस्तेमाल से केरल में सड़क सुरक्षा पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ने की उम्मीद है. रियल टाइम सड़क यातायात की निगरानी और प्रवर्तन के साथ यातायात नियमों के उल्लंघन के कारण होने वाली दुर्घटनाओं की संभावना कम होने की उम्मीद है। अध्ययनों से पता चला है कि इस तरह की निगरानी प्रणालियों की उपस्थिति से सड़क दुर्घटनाओं और मृत्यु दर में कमी हो सकती है, जिससे पैदल चलने वालों और साइकिल चालकों सहित सभी सड़क उपयोगकर्ताओं के लिए सड़कें सुरक्षित हो सकती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *