भारतीय बाजार में EV स्कूटर्स की बिक्री में बड़ी गिरावट, ‘यह’ चौंकाने वाली वजह आई सामने!

भारत सरकार देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने पर जोर दे रही है। लोगों के बिच EV स्कूटर्स के बारे में आकर्षण पैदा करने के लिए सरकारें इलेक्ट्रिक दोपहिया बनाने वाली कंपनियों को सब्सिडी देती रही है। ताकि इससे लगत कमलगे, और कीमत आम लोगों के बजट में रह सके। सरकार के इस कदम से इलेक्ट्रिक स्कूटर मार्केट में बड़ा बूस्ट देखने को मिला था। हालाँकि, अब गिरावट हो रही है। आई इसका कारण जानते है।

हालिया, मीडया रिपोर्ट्स के अनुसार सरकार ने सब्सिडी पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके परिणामस्वरूप E2W (Electric Two Wheelers) की बिक्री में गिरावट आई है। डोमेस्टिक EV उद्योग ने मार्च 2023 में 85,000 E2W यूनिट्स की बिक्री सर्वकालिक उच्च आंकड़ा दर्ज किया था।

हालांकि, अप्रैल 2023 में कुल E2W की बिक्री में लगभग 23% की गिरावट के साथ 66,468 यूनिट्स बेचीं है। सब्सिडी पर प्रतिबन्ध आने की वजह से कीमते बढ़ गई थी, नतीजन बिक्री में गिरावट आई है।

इलेक्ट्रिक वाहनों के रजिस्ट्रेशन में गिरावट के बावजूद, ओला इलेक्ट्रिक अप्रैल में 21,882 रजिस्ट्रेशन के साथ बाजार को बेहतर बनाने में कामयाब रही है। यह इस साल की सबसे बड़ी संख्या भी है। भविश अग्रवाल के नेतृत्व वाले EV स्टार्ट-अप ने मार्च में 21,389 यूनिट्स के रजिस्ट्रेशन के मुकाबले सिर्फ 2% की वृद्धि देखी है। बांकी कंपनियों में गिरावट है।

सरकारी सब्सिडी को हटाने से भारत में इलेक्ट्रिक दोपहिया बाजार प्रभावित हुआ है। हालांकि, सरकार को अगर ग्रीन इंडिया का उद्देश्य हासिल करना है तो, जल्द ही ठोस कदम उठाने पड़ेंगे। कंपनियों को E2W बाजार में प्रतिस्पर्धी बने रहने के लिए बदलते नियमों और बाजार की गतिशीलता के अनुकूल होने की आवश्यकता होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *